Today Current Affairs

 शिक्षा संस्थानों का वातावरण (Today Current Affairs)

Today Current Affairs


बच्चे के व्यक्तित्व के विकास में शिक्षा संस्थान अत्यंत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं इनमें एक तरफ तो बच्चे विद्या प्राप्त करते हैं ताकि वह अपने जीवन में कुछ बन सके तथा अपना जीवन यापन कर सके Current Affairs दूसरी ओर उनके व्यक्तित्व का विकास होता है ताकि वह राष्ट्र के अच्छे नागरिक बन सकें शिक्षा संस्थानों का वातावरण दो भागों में विभाजित किया जाता है


1.   भौतिक वातावरण

2.   भावात्मक एवं मानसिक वातावरण


1.    भौतिक वातावरण  -  भौतिक वातावरण में शिक्षा संस्थान की इमारत कक्षा के कमरे पढ़ने के मेज और कुर्सी शौचालय तथा हॉस्टल इत्यादि आते हैं


शिक्षा संस्थान की इमारत   -  शिक्षा संस्थान की इमारत  बनाते समय मुख्य बातें दिन की ओर विशेष ध्यान दिया जाता है वह निम्नलिखित हैं


1.  शिक्षा संस्थान की इमारत मुख्य सड़क के से दूर होने चाहिए

2.  शिक्षा संस्थान बड़ी भीड़ वाले संस्थान में नहीं होना चाहिए

3.  शिक्षा संस्थान का आकार अंग्रेजी के शब्द E  या H की तरह होना चाहिए

4.  शिक्षा संस्थान में प्रत्येक विभाग में अलग कमरे होने चाहिए

5.  प्रिंसिपल ऑफ प्रबंधक कमेटी तथा तिथि कक्ष के लिए अलग कमरे होने आवश्यक हैं


2.   कक्षा के कमरे  -   कक्षा के कमरे ठीक ढंग से बने हो जिसमें ताजी हवा पर्याप्त रोशनी सर्दी गर्मी से बचने के सही इंतजाम हो तो इसके बाद अपन को अच्छा बनाने में सहायता करते हैं


3.   अपने कमरे  -   शिक्षा संस्थान में कक्षा के कमरों में अतिरिक्त अन्य कमरे जैसे संस्थान का हाल स्टाफ रूम अतिथि कक्ष लाइब्रेरी दवाखाना मनोरंजन का कमरा इत्यादि भी सही ढंग से बने हो तो इनसे भी संस्था का वातावरण खुशगवार होता है


4.    कमरे की कुर्सियां इमेज  -   शिक्षा संस्थान में बच्चों के बैठने के लिए रखे गए मेज कुर्सियां या बेंच ठीक व सुंदर होने चाहिए यदि कुर्सी इमेज सही नहीं होंगे तो बच्चों का प्रोसीजर में त्रुटि आने का उपाय रहता है यह सब सही होने के साथ-साथ मजबूत भी होने चाहिए ताकि कोई दुर्घटना ना हो सके तथा इनके रखने का स्थान भी ठीक होना चाहिए ताकि पढ़ने वाले बच्चे इन पर बैठकर अच्छे से पढ़ाई लिखाई कर सकें तथा अध्यापकों की बात अच्छी तरह से सुन सके


5.    कमरों में हवा भर रोशनी  -   शिक्षा संस्थानों में कमरों में हवा भर रोशनी का सही प्रबंध होना चाहिए खिड़की तथा दरवाजे आमने-सामने होने चाहिए ताकि हवा सही रूप से अंदर बाहर आ जा सके रोशनी का प्रबंध भी ठीक होना चाहिए ताकि बच्चों को पढ़ने लिखने में कोई परेशानी ना हो


6.    संस्थान में शौचालय  Hp GK-   शिक्षा संस्थानों में शौचालय का सही प्रबंध होना चाहिए शौचालय बच्चों की संख्या के आधार पर होना चाहिए बच्चों एवं कर्मचारियों के लिए शौचालय होने चाहिए


7.    संस्थान में पीने का पानी  -  राजस्थान में विद्यार्थियों अध्यापकों व कर्मचारियों के लिए स्वच्छ एवं ताजे पानी का ठीक प्रबंध होना चाहिए पीने का पानी के लिए साफ गिलासों का प्रयोग होना चाहिए पीने के पानी का नल ऐसी जगह होना चाहिए जहां पर बच्चे आसानी से जा सके तथा पानी निकास की नाली को पक्का करना चाहिए ताकि पानी कीचड़ बनकर संस्थान में ना भी करे पक्की नाली के आगे एक हज की व्यवस्था की जा सकती है जहां से व्यर्थ पानी को स्कूल में लगे फूल पौधों के लिए प्रयोग किया जा सके 


8.    संस्थान में मैदान एवं फुलवाड़ी  -   संस्थानों को अधिक सुंदर बनाने के लिए घास लगे मैदान तथा फुल बॉडी भी होनी चाहिए खाली जगह में फलदार पौधे भी लगाए जा सकते हैं चारदीवारी  से देवा साथ सुव्यवस्थित किया जा सकता है इन सब चीजों से संस्थान के वातावरण को स्वस्थ बनाए जा सकता है 


9.   छात्रावास  -  शिक्षा संस्थानों में छात्रावास की व्यवस्था होनी चाहिए ताकि बाहर से आए बच्चों को विद्यालय में पढ़ने में सहायता मिल सके छात्रावास विद्यालय की प्रमुख इमारत से थोड़ा दूर होना चाहिए जिसमें बच्चों के रहने के अतिरिक्त जमा करना बीमार कर अतिथि कमरा खाना खाने का खतरा मनोरंजन का पता तथा बाहर बैठने के लिए पक्का आंगन भी होना आवश्यक है


10.   कीड़े मार दवा की व्यवस्था  -   शिक्षा संस्थान में गर्मी एवं बरसात के मौसम में मक्खी मच्छरों से बचाव के लिए विभिन्न कीटाणु मारने वाली दवा का सप्ताह में एक बार अवश्य छिड़काव होना चाहिए था रूम के परसों पर फिनायल डालकर सफाई होनी चाहिए नालियों में एक शौचालय में भी फिनायल इत्यादि रोज डालना चाहिए ताकि संस्थान के लोगों को झूठ की एक पानी की बीमारियों से बचाया जा सके

Previous
Next Post »